ककोड़ा सब्जी

आये दिन हमारी निजी व्यस्ततम लाइफ के चक्कर में हम हमारी सेहत पर ध्यान नहीं देते है जिससे की हमारे शरीर में कैल्शियम और प्रोटीन की कमी हो जाती है। जिससे कि हमे कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है। उसके लिए हमे मीट-चिकन का सेवन करना पड़ता है। अगर आप इस चीज का सेवन नहीं करना चाहते तो हम आपके लिए लेकर आये है एक अद्भुत सब्जी जिसमे चिकन-मटन से 50 गुणा ज्यादा पाया जाता है प्रोटीन। आइये जानते है इस सब्जी के बारे में...


औषधिक गुणों से भरपूर है यह सब्जी

इस अद्भुत सब्जी का नाम है ककोड़ा जिसके बारे में काफी कम ही लोग जानते है। यह सब्जी औषधिक गुणों से भरपूर है। यह मार्किट में काफी कम दिखाई देती है। इसे वेद में एक औषधि के रूप में बताया गया है जो कि सांस प्रणाली, रोग, मूत्र विकार, बुखार, और सूजन जैसे कई बीमारियों के लिए उपयोग में लाइ जाती है।




कहा पाई जाती है यह सब्जी?

राजस्थान के लोग इस सब्जो को किकोड़ा नाम से जानते है क्योकि यह सब्जी अधिकतर पहाड़ी जमीन में उगती है। यह खासकर बारिश के मौसम में पैदा होती है। इसमें मटन-चिकन से 50 गुना ज्यादा ताकत और प्रोटीन पाया जाता है। एक्सपर्ट्स का कहना है कि ककोड़ा पूरी तरह जैविक होता है इसमें प्रचुर मात्रा में प्रोटीन आयरन होता है।


क्यों इतनी फायदेमंद है यह सब्जी?

किकोड़ा सब्जी की पैदावार जंगल में होती है। बारिश के आते ही इसकी बेला दिखने लगती है। इसे जंगल से आसानी से प्राप्त कर सकते है। कई लोग इस सब्जी के लिए बारिश का बेसब्री से इंतजार करते है। इस सब्जी में मीट से 50 गुना ज्यादा ताकत और प्रोटीन होता है ककोड़ा में मौजूद फालतू के स्वास्थ्य को बढ़ावा देने में काफी मदद करता है। यह सब्जी ऑक्सीडेंट से भरपूर है जो शरीर को साफ रखने की भी काफी सहायक होती है।

ADMIN

ADMIN

Next Story