गले का कैंसर एक गंभीर बीमारी है जो मुंह, स्वरयंत्र या गले के किसी भी हिस्से में हो सकता है। यह दुनिया भर में कैंसर के सबसे आम प्रकारों में से एक है। गले के कैंसर के शुरुआती लक्षणों की पहचान करना महत्वपूर्ण है ताकि जल्दी से इलाज किया जा सके और जीवित रहने की संभावनाओं में सुधार किया जा सके।

गले के कैंसर के 5 शुरुआती लक्षण निम्नलिखित हैं:

गले में दर्द: गले में दर्द गले के कैंसर का सबसे आम लक्षण है। यह दर्द निगलने, बोलने या गले को छूने पर और भी बदतर हो सकता है।

निगलने में कठिनाई: निगलने में कठिनाई गले के कैंसर का एक अन्य आम लक्षण है। यह कठिनाई ठोस खाद्य पदार्थों को निगलने, तरल पदार्थों को निगलने या दोनों को निगलने पर हो सकती है।

आवाज में बदलाव: आवाज में बदलाव गले के कैंसर का एक संभावित लक्षण है। यह बदलाव आवाज में खुरदरापन, आवाज में फिसलन या आवाज में खो जाने के रूप में हो सकता है।

गले में गांठ: गले में गांठ गले के कैंसर का एक संभावित लक्षण है। यह गांठ दर्द रहित या दर्दनाक हो सकती है।

मुंह या गले में सफेद या लाल पैच: मुंह या गले में सफेद या लाल पैच गले के कैंसर का एक संभावित लक्षण है। ये पैच दर्द रहित या दर्दनाक हो सकते हैं।

यदि आपको इनमें से कोई भी लक्षण दिखाई देते हैं, तो तुरंत डॉक्टर से परामर्श करना महत्वपूर्ण है। डॉक्टर एक शारीरिक परीक्षा करेंगे और अन्य परीक्षणों का आदेश दे सकते हैं, जैसे कि एक बायोप्सी, ताकि यह निर्धारित किया जा सके कि क्या कैंसर है।

गले के कैंसर का इलाज कई कारकों पर निर्भर करता है, जिनमें कैंसर का चरण, प्रकार और रोगी की सामान्य स्वास्थ्य स्थिति शामिल है। उपचार में सर्जरी, विकिरण चिकित्सा या कीमोथेरेपी या इनमें से किसी भी संयोजन का उपयोग शामिल हो सकता है।

गले के कैंसर से बचाव के लिए निम्नलिखित उपाय किए जा सकते हैं:


धूम्रपान और शराब से बचें। धूम्रपान और शराब गले के कैंसर के प्रमुख जोखिम कारक हैं।

मुंह की नियमित जांच करवाएं। अपने डेंटिस्ट या अन्य स्वास्थ्य देखभाल प्रदाता से नियमित रूप से अपने मुंह और गले की जांच करवाएं।

स्वस्थ आहार खाएं और नियमित रूप से व्यायाम करें। स्वस्थ आहार और नियमित व्यायाम आपके समग्र स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में मदद कर सकते हैं, जो गले के कैंसर के जोखिम को कम करने में मदद कर सकता है।

गले के कैंसर के शुरुआती लक्षणों को पहचानना महत्वपूर्ण है ताकि जल्दी से इलाज किया जा सके और जीवित रहने की संभावनाओं में सुधार किया जा सके। यदि आपको इनमें से कोई भी लक्षण दिखाई देते हैं, तो तुरंत डॉक्टर से परामर्श करें।

Shubham

Shubham

Next Story