कम वजट में पलाश की खेती कर बम्पर मुनाफा को कम सकते है, जाने इससे होने वाले फायदे के बारे में

पलास की खेती बहुत ही कम लगत में हो जाती है और इसका पौधा रोपड़ नर्सली मे किया जाता है और इसका उपयोग दवाइयों को बनानेके लिए किया जाता है और इसका फूल देखने में भी बड़ा ही सूंदर दिखाई देता है और इसके फूल का रंग केसरी रंग का होता है इसलिए इस फूल की मार्किट में अच्छी खासी डिमांड है और इसकी खेति करने से आपको बम्पर मुनाफा हो सकता है आइये आपको इस खेती करने के बारे में बताते है देखियेइस आर्टिकल में सभी जानकारियों

इस पेड़ का और फूल का उपयोग दवाइयों में किया जाता है जाने :-

इस पेड़ की सभी चीजों से बहुत सारी बीमारियों से भी निजात पाया जा सकता है और इस पेड़ की जड़ी बूटी का उपयोग सालो साल से चला आ रहा है और इससे बड़ी-बड़ी गंभीर बीमारियों को ठीक किया जा रहा है। लेकिन अब लोग दवाई/टैबलेट खाकर हर बीमारी का इलाज कर लेते हैं। लेकिन इससे एक दूसरी बड़ी बीमारी खड़ी हो जाती है। इसलिए अपने आसपास के पेड़ पौधे से घरेलू नुस्खे से छोटी-मोटी बीमारियों को दूर कर सकते है। इसलिए आज हम जानेंगे कि ऐसा कौन-सा पेड़ है जिससे दवाई की दुकान कहा जाता है।

जाने यह किस बीमारी के लिए रामबाण औषधि है :-

इस पेड़ के फूल, पत्ती, बीज सब कुछ काम आते हैं। मतलब की इसकी सारी चीजे ही उपयोग में आती है और इस तरह की बीमारिया जिसमें डायरिया, लीवर त्वचा की समस्या, नाक से खून आना, मोटापा, एग्जिमा आदि बीमारियों से निजात दिलाने में यह काम करता है। जिसके लिए आप घर पर ही उपचार कर सकते हैं और यह जानते हैं कैसे इसका उपयोग करना होता है। और जिस पेड़ की हम बात कर रहे उसका नाम पलाश है। यह पेड़ अनेको बीमारियों की दवा के रूप में काम करता है

जाने कैसे करते है इसके फल फूल से इलाज :-

इसे गर्मियों में शरीर में अगर पानी कमी हो जाए तो इन फूलों को पानी में 1 घंटे के लिए भिगोकर उसका पानी पीने शरीर में पानी की कमी दूर होती है और मिनरल का बैलेंस बनाए रखती है। यानि कि बहुत जल्द राहत होता है।और इसका शोध करता द्वारा अध्ययन करते हुए ऐसा बताया गया है की अगर त्वचा विकार जैसे कि एग्जिमा या रेसे की समस्या है तो इसके बीज लेकर उसका चूर्ण बनाकर खा सकते हैं। इससे फायदा होगा। वहीं इसके फूल जो की लाल रंग के होते हैं।

ऐसे करे उपाय :-

अगर आप डायरिया की समस्या से परेशां न है तो उसके फूल उसमे भी काम आते हैं और नाक से खून आने पर करीब छह-सात पत्तियों को पानी में रात भर भिगोके सुबह चीनी मिलाकर खाली पेट पीने से नाक से खून आने की समस्या में राहत मिलती है। और इस तरह कई बीमारियों में यह आसानी से उपयोग किया जा सकता है। इसे घर में आसानी से लगाया भी जा सकता है। यह देखने में भी सुंदर लगता है।

Upasana

Upasana

Next Story