किसान भाई सफ़ेद बैंगन की खेती कर होंगे मालामाल ,एक हेक्टेयर में खेती कर होगा लाखो का मुनाफा ,जानिए इसके खेती करने के बारे में

कृषि क्षेत्र के विकास और विस्तार के साथ-साथ इसका सीधा संबंध किसानों की आय से है.पारंपरिक खेती के तरीकों के बजाय नई तकनीकों और नई किस्मों का उपयोग करके भी किसान फसलों की बंपर पैदावार प्राप्त कर सकते हैं।और अगर आप भी खेती कर अच्छी कमाई करना चाहते है तो किसान सफेद बैंगन की खेती कर अच्छी कमाई कर सकते हैं.और इसकी खेती के लिए ज्यादा पानी की जरूरत नहीं होती। और बाज़ारो में इसकी डिमांड बनी रहती है और भाव भी अच्छा मिलता है। इसलिए आप भी सफ़ेद बैगन की खेती कर अच्छा पैसा कमा सकते है। तोआइये जानते है सफ़ेद बैगन की खेती के बारे में।

सफ़ेद बैंगन बोने का सही समय :-


यहा आपको बता दे की फरवरी और मार्च सफेद बैंगन लगाने के लिए बहुत अच्छे महीने माने जाते हैं।और क्योंकि बैंगन की देर से बुवाई, उच्च तापमान और गर्मी का तनाव पौधे के खराब विकास का कारण बन सकता है। इसलिए बैंगन की नर्सरी 15 जनवरी के बाद शुरू कर देनी चाहिए और फरवरी और मार्च के महीनों में मुख्य खेत में रोपण किया जाना चाहिए। और लेकिन अगर बैंगन की खेती मानसून में करनी हो तो बैंगन की खेती जून में की जानी चाहिए।

बैंगन के पौधे को ऐसे करे तैयारी :-


अगर आप सफ़ेद बैंगन की खेती करने के बारे में सोच रहे है तो जिस स्थान पर नर्सरी लगाई जाती है, वहां पर सबसे पहले 1 मीटर लंबी और 3 मीटर चौड़ी क्यारियां बनाकर तैयार कर लेना चाहिए और मिट्टी को कुदाल से भुरभुरी कर लेनी चाहिए.और इसके बाद 200 ग्राम डीएपी प्रति क्यारी डालकर भूमि को समतल कर लेना है।और जमीन को समतल करने के बाद वहां की मिट्टी को पैरों से दबा देना चाहिए। फिर दबाई हुई समतल भूमि पर रेखा खींचकर बैंगन के बीज बो देना चाहिए। और बोने के बाद बीजों को ढीली मिट्टी से ढक दीजिये. और इसके बाद नर्सरी के मैदान को जूट की बोरी या किसी लंबे कपड़े से ढक देना चाहिए और उस पर पुआल बिछा देना चाहिए. बैंगन के खेत में 15 दिन के अन्तराल पर दो बार गुड़ाई करनी चाहिए.और इससे पौधे की जड़ों का बेहतर विकास होने में मदद मिलती है।

सफ़ेद बैंगन के खेत में कब करें सिंचाई :-


यहा पर आपको बता दे की सफेद बैंगन बोने के तुरंत बाद फसल में हल्की सिंचाई कर देनी चाहिए और इसकी खेती के लिए ज्यादा पानी की जरूरत नहीं होती है और जैविक खाद या खाद का ही प्रयोग करना होता है। और इस फसल को कीटों और बीमारियों से बचाने के लिए जैविक नीम कीटनाशक का उपयोग अवश्य करना चाहिए। और मिट्टी की नमी बनाए रखने के लिए नियमित रूप से पानी दें. बैंगन की फसल आने में 70 से 90 दिनों में आ जाती है। उसके बाद आप इसे तोड़ कर बाजार में बेच सकते है।

एक हेक्टेयर में सफेद बैंगन की खेती से इतना होगा मुनाफा :-



अगर आप भी सफ़ेद बैगन की खेती करते है एक हेक्टेयर बैंगन की खेती में पहली हार्वेस्टिंग तक ही आपका करीब 2 लाख रुपये तक खर्च हो जाएगा। और वहीं पूरे साल रख-रखाव करने में और 2 लाख रुपये खर्च हो सकते हैं। और पूरे साल में बैंगन की खेती में आपको करीब 4 लाख रुपये खर्च करने की जरुरत है। लेकिन उससे वहीं साल भर में एक हेक्टेयर से 100 टन तक बैंगन मिलता है , और जिसका साल भर अलग-अलग मांग के हिसाब से अलग-अलग दाम मिल जाता है। अगर आपको मंडी में औसत भाव 10 रुपये भी मिलता है तो आपको बैंगन की फसल से कम से कम 10 लाख रुपये की कमाई होगी। और आप भी सफ़ेद बैगन की खेती करके लाखो रुपये की तगड़ी कमाई कर सकते है।

Upasana

Upasana

Next Story