कम लागत में करे प्याज़ की खेती, जिससे लग जाएगी पैंसो की झड़ी ,जाने प्याज़ की खेती को करने के बारे में

क्या आपको पता है की प्याज़ की खेती सबसे ज्यादा महाराष्ट में होती है और वैज्ञानिको का भी कहना है की आप जब प्याज़ की खेती को कर रहे आप इन कुछ विशेष बातो को ध्यान में रखे जिससे आपको उपज में नुक्सान नहीं उठाना पड़े और प्याज़ और लहसुन की पैदावार अच्छी हो

प्याज़ की खेती :-

वैसे देखा जाये की हमारा भारत प्याज़ के उत्पादन छीन से आगे निकल चूका है और कई बार कुछ गलतियो के चलते प्याज़ की खेती को करना नुक़सान का ोडा हो जाता था लेकिन अब ऐसा नहीं है की कई बार विपरीत मौसम भी प्याज की खेती में नुकसान के लिए जिम्मेदार होता है और देश में प्याज की खेती रबी और खरीफ सीजन में प्रमुख रूप से की जाती है और प्याज के कुछ किस्म ही ऐसी होती हैं जिन्हे भंडारण के दौरान किसान को कुछ बातों का ध्यान रखना भी जरूरी होता है और नहीं तो प्याज खराब होने लगती है. प्याज एवं लहसुन अनुसंधान केंद्र के वरिष्ठ वैज्ञानिक ने बताया की प्याज की फसल किसानों को एक मुनाफा देने वाली अच्छी फसल है और अगर इसकी खेती सही ढंग से की जाए तो यह प्रति एकड़ 70 से 80 हजार रुपये का फायदा देती है और

जाने कैसे करें प्याज की खेती :-

प्याज़ की खेती गेहू की फसल के साथ की जाती है और रबी के सीजन के लिए अक्टूबर-नवंबर में इसकी बुआई शुरू होती है और फिर दिसंबर से ही नई प्याज आना शुरू हो जाती है. और इसके लिए अगस्त-सितंबर के महीने में ही प्याज की नर्सरी लगाने का सबसे उपयुक्त समय माना जाता है और प्याज बोने से पहले खेत की अच्छी तरह से जुताई करके उसे भुरभुरा बना लेना चाहिए और क्योंकि मिट्टी जितनी भुरभुरी होगी, प्याज उतनी ही अच्छी और मोटी बैठेगी. प्याज की नर्सरी लगाने से पहले बीज किसी अच्छी प्रजाति का ले.और वहीं प्याज एवं लहसुन अनुसंधान संस्थान से ऑनलाइन भी बीज मंगवाए जा सकता है. प्रति हेक्टेयर में करीब 10 किलो बीज की खपत होती है.

जाने किन गलतियों से प्याज को होता है नुकसान :-

प्याज़ की खेती को करते समय बहुत सी ऐसी गलतिया किसानो से हो जताई है जिससे नुकसान उठान पड़ता है और अनुसन्धान केंद्र के अनुसार बताय गया है की कि प्याज की कटाई करने से 15 दिन पहले ही सिचाई बंद कर देनी चाहिए.और किसान कई बार गलतियां करते हैं जिसके चलते प्याज में सड़न पैदा होने लगती हैऔर उन्होंने बताया कि प्याज की जिन किस्म का भंडारण होता है उसके लिए किसानों को विशेष बात को ध्यान रखना चाहिए ऐसे में जब प्याज की कटाई करें तो तीन दिन तक खेत में इस तरह से रखे जिससे कंद पत्तियों से ढक जाय और फिर घर पर भी प्याज को कम से कम 15 दिन छाया में सुखाना चाहिए.और प्याज के कन्द से कुछ हिस्सा छोड़कर कटाई करनी चाहिए

अच्छी पैदावार से ही मिलेगा मोटा मुनाफा :-

किसान को प्याज़ की अच्छी उपज करने के लिए सबसे पहले अच्छे बीज को चुनना काफी जरुरी होता है और प्याज की फसल को 4 से 5 महीनो के भीतर तैयार हो जाती है और वहीं अब कई ऐसी वैरायटी भी मौजूद है उन किस्मो की फसल को कर किसान अच्छा मुनाफा को कमा सकती है ,

Upasana

Upasana

Next Story