Rose Farming: अगर आप भी खेती से लाखो रूपये कमाना चाहते है तो शुरू करे रोज फार्मिंग

Kheti Kisani News MP Live Today: Rose Farming: अगर आप भी खेती से लाखो रूपये कमाना चाहते है तो शुरू करे रोज फार्मिंग, आजकल किसान परंपरागत खेती को छोड़ अन्य खेती की ओर ज्यादा आकर्षित हो रहे है क्योंकि किसानो को इससे ज्यादा मुनाफा हो रहा है। लेकिन ऐसा करने से ग्रामीण इलाके के किसानों की आर्थिक स्थिति में सुधार हो रहा है। इसी के चलते किसान फूलों की खेती में दिलचस्पी ले रहे हैं। ऐसे ही सीतापुर जिले में कई ऐसे किसान हैं, तो फूलों की खेती को ज्यादा महत्व दे रहे हैं. इससे किसानों की आमदनी बढ़ रही है। इसके चलते किसान गुलाब की खेती से लाखों रूपये कमा रहे है। तो आइये जानते है गुलाब की खेती के बारे में.

किसान ने बताया खेती करने का तरीका

पिछले 10 सालों से गुलाब की कर रहे किसान रमेश पाल ने बताया कि पारंपरिक धान, गेहूं की खेती की फसल से उन्हें ज्यादा मुनाफा नहीं हो पा रहा था, इस कारण से उन्होंने गुलाब की खेती करने के लिए विचार बनाया और फूल की खेती करना शुरू कर दिया। इसके आलावा अब आम और अमरूद की खेती की खेती के साथ-साथ हरी सब्जियों की खेती भी कर रहे है। रमेश पाल ने कहा की इस समय वह एक एकड़ जमीन पर गुलाब की खेती करके लागत निकालने के बाद 40 हजार रुपये का अधिक मुनाफा कमा लेते हैं।

गुलाब की किस्मो के बारे में जाने

गुलाब के किस्मों में मुख्यतः सोनिया, स्वीट हर्ट, सुपर स्टार, सान्द्रा, हैपीनेस, गोल्डमेडल, मनीपौल, बेन्जामिन पौल, अमेरिकन होम, गलैडिएटर किस ऑफ फायर, क्रिमसन ग्लोरी आदि है।

Rose Farming: अगर आप भी खेती से लाखो रूपये कमाना चाहते है तो शुरू करे रोज फार्मिंग

गुलाब की खेती के लिए इस मिट्टी का इस्तेमाल करे

अगर आप भी गुलाब की खेती करना चाहते है तो इसके लिए दोमट, बलुआर दोमट या मटियार दोमट मिट्टी का इस्तेमाल करना होगा। वैसे तो गुलाब की खेती लगभग सभी प्रकार के मिट्टियों में की जा सकती है। गुलाब का पौधा का उत्तम विकास के लिए छायादार जमीन का होना जरूरी है। यह पौधा अधिक धूप होने पर नष्ट हो जाता है।

गुलाब की शानदार खेती करने के लिए फॉलो करे यह प्रोसीजर

  • सबसे पहले गुलाब की खेती के लिए एक स्थान तय कर लें।
  • इसकी खेती तरह की मिट्टी में की जा सकती है।
  • बुवाई दोमट मिट्टी में इसके पौधों का विकास बेहद तेजी से होता है।
  • इसके बाद अब बीज रोपड़ करे।
  • खेती जल निकासी वाली भूमि होनी चाहिए।
  • अब समय-समय पर सिचाई करे।
  • 20 दिन बाद गुलाब के पौधे में फूल लगने लगेंगे।
  • एक बात का ख्याल रखे कि पौधे को अधिक मात्रा में धूप से बचाये।
SumitBarde

SumitBarde

Next Story