Vastu Tips: हर रंग की अपनी अनूठी विशेषताएं होती हैं जो हमारे जीवन के विभिन्न पहलुओं को प्रभावित करती हैं। इसलिए रंगों का चयन सोच-समझकर करना चाहिए। वास्तु शास्त्र के अनुसार शयनकक्ष में रखी हर वस्तु और उसका रंग जीवन के हर पहलू पर प्रभाव डालता है।

अक्सर हम देखते हैं कि पति-पत्नी के बीच किसी न किसी वजह से तनाव पैदा हो जाता है। अगर बहस बार-बार होने लगे तो सावधान होने का समय आ गया है। संभव है कि आपके शयनकक्ष में रंगों का चयन ठीक से नहीं किया गया हो। तो आइए जानें कि पति-पत्नी के बीच प्यार बनाए रखने के लिए बेडरूम में किस रंग की वस्तुओं का इस्तेमाल करना चाहिए।

अगर आप बेडरूम में लाल रंग का नाइट बल्ब या लैंप का इस्तेमाल करते हैं तो उसे तुरंत हटा दें। बेडरूम के लिए आप इसकी जगह नीले रंग के बल्ब का इस्तेमाल कर सकते हैं। लाल रंग मंगल ग्रह का रंग है, जो क्रोध और आक्रामकता को बढ़ाता है, इसलिए इसका प्रयोग नहीं करना चाहिए।

Romantic Red: लाल रंग को प्यार का प्रतीक माना जाता है। यह उत्साह और प्रेम की भावना को बढ़ाता है। अपने बेडरूम की एक दीवार को गहरे लाल रंग में पेंट करके आप रोमांटिक संबंधों को बढ़ावा दे सकते हैं।

Ideal Blue: नीला रंग शांति और शांति की भावना प्रदान करता है। गहरा नीला बेडरूम को एक आकर्षक और रोमांटिक दृश्य देता है और आपको शांति और संगीत के भाव में ले जाता है।

Cheerful Pink: पिंक रंग स्नेह, प्रेम और मौजमस्ती की भावना को दिखाता है। यह रंग बेडरूम को गुलाबी और प्यार भरे माहौल में ले जाता है और आपको एक रोमांटिक अनुभव प्रदान करता है।

Sunshine Yellow: सोने जैसा पीला रंग आपके बेडरूम को रोमांटिक और आकर्षक बनाने के लिए उत्तम है। यह रंग ताजगी और ऊर्जा की भावना प्रदान करता है और आपको आनंदमय और सकारात्मक महसूस कराता है।

Natural Green: हरा रंग प्रकृति की शांति और प्रकृति के साथ एकांत की भावना को प्रकट करता है। यह आपके बेडरूम को एक शांतिपूर्ण और ताजगी भरे वातावरण में ले जाता है और आपको संगीत की भावना में ले जाता है।

Desk

Desk

Next Story