बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सोमवार को विश्वास मत जीतने के बाद राज्य विधानसभा में अपना बहुमत साबित कर दिया। वहीं कांग्रेस, लेफ्ट और आरजेडी के सदस्यों ने सदन से वॉकआउट किया। वोटिंग में सरकार के पक्ष में 129, जबकि विपक्ष में 0 वोट पड़े। ध्वनिमत से सरकार की जीत हुई।

नीतीश कुमार ने साबित किया बहुमत

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सोमवार को बिहार विधानसभा में विपक्ष की अनुपस्थिति में फ्लोर टेस्ट जीत लिया। वहीं विपक्ष ने सदन से वॉकआउट कर दिया। विपक्ष की अनुपस्थिति में नीतीश कुमार ने सबसे पहले ध्वनि मत से अपना बहुमत साबित किया। हालांकि बाद में उन्होंने मैनुअल वोटिंग पर जोर दिया। उन्होंने अपनी सरकार के पक्ष में 130 वोटों के साथ विश्वास मत जीता जबकि विपक्ष में कोई भी वोट नहीं पड़ा।

तीन विधायकों ने बदला खेमा

जनता दल यूनाइटेड प्रमुख नीतीश कुमार ने तेजस्वी यादव की पार्टी पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाया और दावा किया कि "वे पैसा कमा रहे थे"। वहीं आरजेडी के तीन विधायक चेतन आनंद, नीलम देवी और प्रहलाद यादव ने खेमा बदल लिया और सत्‍ता पक्ष की तरफ जाकर बैठ गए। आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने विधानसभा अध्यक्ष अवध बिहारी चौधरी के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पर मतदान से पहले पार्टी विधायकों के सत्तारूढ़ राजग के सदस्यों के बीच बैठने पर आपत्ति जताते हुए व्यवस्था का प्रश्न उठाया। हालांकि, आसन पर मौजूद उपाध्यक्ष महेश्वर हजारी ने व्यवस्था के प्रश्न पर कोई फैसला नहीं दिया।

Updated On
Sumit

Sumit

Next Story