भारत की यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस (UPI) सेवाएं आज 12 फरवरी को एक आभासी समारोह के दौरान श्रीलंका और मॉरीशस में शुरू की गईं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इन 2 देशों में UPI सेवाओं को आज दोपहर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से लॉन्च किया है। जिसमें मॉरीशस के पीएम प्रविंद जुगनौथ और श्रीलंका के राष्ट्रपति रानिल विक्रमसिंघे ने भाग लिया। श्रीलंका और मॉरीशस में भारतीय सेवाओं की शुरूआत दोनों देशों के साथ नई दिल्ली के बढ़ते द्विपक्षीय आर्थिक संबंधों के बीच हुई।


यह लॉन्च श्रीलंका और मॉरीशस की यात्रा करने वाले भारतीय नागरिकों के साथ-साथ भारत की यात्रा करने वाले मॉरीशस के नागरिकों के लिए यूपीआई निपटान सेवाओं की उपलब्धता को सक्षम बनाता है। इस कार्यक्रम में मॉरीशस में भारत की रुपे कार्ड सेवाएं भी लॉन्च की गई हैं। पीएम मोदी ने कहा, "इससे हमारे (भारत, श्रीलंका और मॉरीशस) के बीच पर्यटन बढ़ेगा। मुझे विश्वास है कि भारतीय पर्यटक भी उन गंतव्यों को पसंद करेंगे जहां यूपीआई सेवाएं उपलब्ध हैं।"


जानिए UPI के बारे में

नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) द्वारा विकसित, UPI मोबाइल फोन के माध्यम से अंतर-बैंक लेनदेन की सुविधा के लिए रियल टाइम प्रणाली है। यूपीआई भारत में एक मोबाइल-आधारित भुगतान प्रणाली है जो वर्चुअल भुगतान पते के माध्यम से चौबीसों घंटे भुगतान की अनुमति देती है। यह एक ही ऐप में कई बैंक खातों को सशक्त बनाता है और कई बैंकिंग सुविधाओं को एक हुड के तहत लाता है।

Updated On
Sumit

Sumit

Next Story