विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने लोगों को कोरोना के नए वेरियंट से सतर्क रहने की हिदायत दी है।

कोरोना वायरस के कहर ने दुनियाभर में लाखों घर उजाड़े हैं, एक बार फिर कोरोना के नए म्यूटेटेड वेरिएंट की जानकारी वैज्ञानिकों ने दी है। कोरोना के नए वेरिएंट को बीए.2.86 (BA.2.86) नाम दिया गया है जिसके मामले अब तक 4 देशों में सामने आए हैं।

कोरोना के नए वेरिएंट का पहली बार इजराइल में पता चला था। इस वेरिएंट से अब तक इजराइल से एक, डेनमार्क से दो, यूके से एक और अमेरिका से एक मामला सामने आया है। कोरोना के नए वेरिएंट के मामले सामने आने के बाद एक बार फिर लोगों की चिंता बढ़ गई है।

कोरोना के नए वेरिएंट बीए.2.86 के लक्षण

कोविड-19 के नए वेरिएंट BA.2.86 के मरीजों में बुखार का आम लक्षण देखने को मिला है।

बुखार के साथ मरीजों में खांसी और सांस लेने में तकलीफ भी देखने को मिल रही है।

इसके साथ ही थकान, सिरदर्द और भूख न लगने की समस्या भी कोविड के नए वेरिएंट का लक्षण है।

कोरोना के नए वेरिएंट बीए.2.86 से बचाव

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने लोगों को कोरोना के नए वेरियंट से सतर्क रहने की हिदायत दी है। चिंता है कि BA.2.86 से संक्रमित मरीज़ गंभीर रूप से बीमार हो सकते हैं। ऐसे में एक बार फिर लोगों से कोरोना की गाइडलाइन का पालन करने को कहा जा रहा है.

इससे बचने के लिए अपने हाथों को बार-बार साबुन और पानी से कम से कम 20 सेकंड तक धोएं, खांसते और छींकते समय अपने मुंह को टिशू या कोहनी से ढकें और सार्वजनिक स्थानों पर मास्क का उपयोग करें।

बीमारियों से ग्रस्त लोगों, बुजुर्गों और बच्चों को अधिक सावधान रहने की जरूरत है। अगर आप कोरोना वायरस से संक्रमित हैं तो खुद को घर पर आइसोलेट कर लें और डॉक्टर से संपर्क करें।

Updated On 22 Aug 2023 7:20 AM GMT
Bhanu Singh

Bhanu Singh

Next Story