2024 में गणेश जयंती कब पड़ रही, जानिए उनकी पूजा विधि के बारे में जिनसे होंगी पूरी मनोकामना

आज हम आपको गणेश जयंती को किस दिन मनाई जा रही है और गणेश चतुर्थी को भगवान का जन्मदिन को बड़े धूम धाम से मनाया जाता है और हमारे सनातन धर्म में गणेश जयंती को शुभ मन जाता है और इस दिन गैन पति बाप्पा की पूजा बड़े धूम धाम से किया जाता है और साथ में घर महिलाये व्रत को भी रखती है और इस साल गणेश जयंती 13 फरवरी दिन मंगल वार को पड़ रही है आज आपको गणेश जयंती क्यों मनाई जाती है उसके बारे में बताते है

पूजा का मुहूर्त:-

13 फरवरी 2024 दिन मंगलवार दोपहर से पहले 11 बजकर 29 मिनट से लेकर दोपहर 1 बजकर 42 मिनट तक पूजा की जाएगी इस दिन सिर्फ 2 घंटे 14 पूजा का कार्य कल दिया गया है और समय पर ही पूजा कर ले

गणेश जी पूजाविधि :-

माघ की महीने गणेश जयंती वाले दिनसुबह ब्रह्म मुहूर्त में जल्दी उठकर स्नान करें और स्वच्छ वस्त्र पहनें और यह सभी लोगो को ज्ञात ही होगा की भगवन गणेश जी की पूजा को सभी पूजा से पहले पूजा की जाती है और जानन की वंदना से पश्चात आप एक हाथ में जल लेकर पूजा के अनुष्ठान का संकल्प ले और इसके बाद आप उनको को दूर्वा, फल, फूल, मेवा,अक्षत, नैवेद्य मोदक आदि पूजन सामग्री श्रद्धा से पूजा करे और गणेश की दुरावा अतिप्रिय है और अब कपूर लें और उसको जलाकर उनकी आरती कर उनका आशीर्वाद प्राप्त करें।और भगवन गणेश जी मिठाइयों का भोग लगा दे

गणेश जयंती क्यों मनाई जाती है :-

गणेश जयंती पर विधि विधान से किया जाता है और यह त्यौहार माघ के महीने में आता है और गणेश चतुर्थी ार गणेश जी का जन्म दिन हुआ था औरइसा भी कहा जाता हैकी इस दिन चन्द्रमा का दर्शन नहीं करना चाहिए और अगर धोखे से इस दिन चंद्र दर्शन कर लेते है तो उनको उतना ही कष्टों का सामना कर पड़ सकता है

पौराणिक कथा :-

यह पर पौराणिक कथाओं में बताया गया है की एक बार चंद्रदेव ने भगवान गणेश के रूप का मजाक बनया था और उन्होंने अपने खूबसूरत रूप का गर्व दिखाया और जिससे भगवान गणेश बहुत ही ज्यादा क्रोधित हुए और उन्होंने चंद्र देव को श्राप दिया की कोई भी उनकी सुंदरता को देख नहीं देख पायेगा और इसे लेकर भगवान चंद्रमा बहुत परेशान हुए और उन्होंने गणपति बाप्पा से क्षमा याचना की और जिससे बाद गणपति बाप्पा ने कहा अब शाप को वापस ले पाना तो अब संबव नहीं है आपको उसका उपाय बताता हूँ और गणेश गणपति जी चंद्र देव को कहा की 15 दिनों के लिए घटना होगा और और 15 दिनो का बढ़ना होगाऔर यह भी बताया गया चंद्र देव का पूरा रूप कुछ ही देर के लिए देखा जायेगा

Updated On
Upasana

Upasana

Next Story