भारतीय शतरंज खिलाड़ी आर प्रगनानंद ने टाटा स्टील शतरंज टूर्नामेंट के चौथे दौर में मौजूदा विश्व चैंपियन डिंग लिरेन को हराया। टूर्नामेंट 16 जनवरी को नीदरलैंड के विज्क आन ज़ी में हुआ। ग्रैंडमास्टर आर प्रगनानंद अपने करियर में पहली बार अनुभवी विश्वनाथन आनंद को पछाड़कर भारत के शीर्ष क्रम के पुरुष शतरंज खिलाड़ी बन गए हैं। प्रगनानंद की बड़ी जीत के तुरंत बाद, सचिन तेंदुलकर सहित कई लोग उन्हें बधाई दी।


आर प्रगनानंद नंबर एक रैंक वाले भारतीय ग्रैंडमास्टर बनें

जीत के बाद, 18 वर्षीय के अब 2748.3 अंक हैं, जबकि पांच बार के विश्व चैंपियन विश्वनाथन आनंद के FIDE लाइव रेटिंग में 2748 अंक हैं। आनंद के बाद, प्रगनानंद मौजूदा विश्व चैंपियन को हराने वाले दूसरे भारतीय बने। प्रग्गनानंद ने 2023 टाटा स्टील टूर्नामेंट में भी लिरेन को हराया था।





सचिन तेंदुलकर ने दी बधाई

सचिन तेंदुलकर ने साझा किया कि कैसे प्रगनानंद की जीत एक उल्लेखनीय जीत है। उन्होंने कहा, "18 साल की छोटी उम्र में, आपने न केवल खेल पर अपना दबदबा बनाया, बल्कि भारत के शीर्ष रेटेड खिलाड़ी भी बन गए। आपकी आने वाली चुनौतियों के लिए शुभकामनाएं। शतरंज में अंतरराष्ट्रीय मंच पर भारत को गौरव दिलाते रहें।" अडानी ग्रुप के चेयरमैन गौतम अडानी ने भी नए नंबर 1 भारतीय शतरंज खिलाड़ी बनने पर प्रग्गनानंद की सराहना की।


कई रिकॉर्ड किए अपने नाम

आर प्रगनानंद 2023 में विश्व कप फाइनल में पहुंचने वाले दुनिया के सबसे कम उम्र के शतरंज खिलाड़ी बन गए, और विश्वनाथन आनंद के बाद यह उपलब्धि हासिल करने वाले केवल दूसरे भारतीय बने। 2022 में, शर्मीले और मृदुभाषी किशोर ने मैग्नस कार्लसन को कई बार हराकर शतरंज की दुनिया में सुर्खियां बटोरीं और भारत की प्रगति पर प्रकाश डाला। उन्होंने ने 2023 में हांग्जो एशियाई खेलों में रजत पदक भी जीता।

Sumit

Sumit

Next Story