भारत के युवा बल्लेबाज यशस्वी जयसवाल ने विशाखापत्तनम में इंग्लैंड के खिलाफ चल रहे दूसरे टेस्ट के दूसरे दिन अपना पहला दोहरा शतक जड़ा। यशस्वी जयसवाल ने शनिवार को टेस्ट क्रिकेट में दोहरा शतक लगाने वाले तीसरे सबसे युवा क्रिकेटर बनकर इतिहास रच दिया। उन्होंने विशाखापट्टनम में 277 गेंदों में अपना दोहरा शतक पूरा किया।


युवा खिलाड़ी जयसवाल की शानदार बल्लेबाजी

टीम इंडिया के युवा खिलाड़ी यशस्वी जयसवाल शनिवार को विशाखापत्तनम में श्रृंखला के दूसरे मैच के दौरान इंग्लैंड के खिलाफ 209 रन बनाकर टेस्ट दोहरा शतक लगाने वाले तीसरे सबसे युवा भारतीय बन गए। उन्होंने चौके के साथ अपना दोहरा शतक पूरा किया। इस दौरान युवा बल्लेबाज ने 72.66 की स्ट्राइक रेट से 19 चौके और 7 छक्के लगाए। पहली पारी में जयसवाल ने टीम के आधे से अधिक रन बनाए और भारत 396 रन पर आउट हो गया।




22 वर्षीय सलामी बल्लेबाज ने पारी के 102वें ओवर में शोएब बशीर के खिलाफ चौका जड़कर अपना दोहरा शतक पूरा किया। उन्होंने अपनी पारी के दौरान बेहद संयम दिखाया - विशेषकर तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन के खिलाफ। युवा भारतीय सलामी बल्लेबाज ने इंग्लैंड के स्पिनरों के खिलाफ 86.09 की प्रभावशाली स्ट्राइक रेट का प्रदर्शन किया, जो इंग्लैंड के खिलाफ एकमात्र तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन के खिलाफ घटकर 25.37 रह गया।


यशस्वी जयसवाल ने रचा इतिहास

यशस्वी जयसवाल 22 साल की उम्र में टेस्ट क्रिकेट में दोहरा शतक लगाने वाले तीसरे सबसे कम उम्र के भारतीय क्रिकेटर हैं, उनसे पहले सुनील गावस्कर ने 21 साल और 277 दिन की उम्र में अपना पहला दोहरा शतक लगाया था। भारत के लिए टेस्ट में दोहरा शतक लगाने वाले खिलाड़ियों की लिस्ट में सबसे ऊपर विनोद कांबली के नाम है। उन्होंने 1993 में 21 साल और 35 दिन की उम्र में यह कारनामा इंग्लैंड के खिलाफ किया था।

Sumit

Sumit

Next Story