अगर किसी कारण से आपके साथ गलत UPI ट्रांजैक्शन हो गया है तो परेशान होने की जरूरत नहीं है

UPI App: अगर किसी कारण से आपके साथ गलत UPI ट्रांजैक्शन हो गया है तो परेशान होने की जरूरत नहीं है. इसके लिए आपको तुरंत कुछ कदम उठाने चाहिए, जिससे आपका ट्रांजेक्शन रिवर्स हो सकता है।

UPI ट्रांजेक्शन कैसे रिवर्स करें: क्या आपके साथ कभी ऐसा हुआ है कि आप किसी को UPI करना चाहते हों। लेकिन गलती से आपने ये किसी और के साथ कर दिया. इसके बाद आप काफी परेशान हो गए होंगे. लेकिन क्या आप जानते हैं कि अगर आपके साथ ऐसा पहले कभी हुआ है या भविष्य में भी ऐसा होता है तो आपको बिना घबराए कुछ टिप्स फॉलो करने होंगे। हां, यह आपका गलत लेनदेन वापस कर सकता है।

ग्राहक सेवा से सम्पर्क करें


यदि आपके साथ कभी ऐसा होता है, तो आपको तुरंत अपने बैंक के ग्राहक सेवा विभाग या यूपीआई सेवा प्रदाता से संपर्क करना चाहिए। साथ ही उन्हें केस से जुड़ी पूरी जानकारी जैसे ट्रांजैक्शन रेफरेंस नंबर, तारीख, रकम और समय आदि दी जाती है। केवल यह जानकारी प्रदान करने से आपका लेनदेन उलटा नहीं किया जा सकता।

पूरा मामला बताएं


ग्राहक सेवा पर पूरी कहानी बताएं. रिवर्स ट्रांजेक्शन का कारण बताएं। जैसे आप उन्हें बताएं कि पैसा गलत व्यक्ति के पास चला गया या यह एक अनधिकृत लेनदेन है। ग्राहक सेवा कर्मचारी आपकी समस्या का मूल्यांकन करने के लिए आपके द्वारा प्रदान की गई जानकारी का उपयोग करेंगे।

समय प्रबंधन

रिवर्सल का अनुरोध करते समय बैंक या यूपीआई सेवा प्रदाता द्वारा लगाए गए किसी भी समय प्रतिबंध से अवगत रहें। जब तय समय सीमा के अंदर प्रक्रिया शुरू की जाती है तो उसके सफल होने की संभावना बढ़ जाती है.

अनुमोदन के लिए प्रतीक्षा करें

आपके द्वारा प्रदान की गई जानकारी सबमिट करने के बाद, आपका बैंक या UPI सेवा प्रदाता आपके अनुरोध को सत्यापित करेगा। यदि इसे स्वीकार कर लिया जाता है और रिवर्सल आवश्यकताओं को पूरा किया जाता है, तो वे यूपीआई ऑटो-रिवर्सल प्रक्रिया शुरू कर देंगे।


इसकी सूचना देने वाला

आपका बैंक या UPI सेवा प्रदाता आपको उलटफेर के परिणाम के बारे में लिखित रूप में सूचित करेगा। सफलतापूर्वक रिफंड की गई राशि आपके खाते में वापस जोड़ दी जाएगी। याद रखें कि इस प्रक्रिया में कुछ समय लग सकता है।

सावधान और सजग रहें

कुछ स्थितियों में UPI लेनदेन को उलटा किया जा सकता है। लेकिन रोकथाम हमेशा कार्रवाई का सर्वोत्तम तरीका है। डिजिटल पेमेंट में किसी भी तरह की परेशानी से बचने के लिए अपने लेनदेन पर नजर रखें और सावधान रहें। अपना यूपीआई पिन हमेशा सुरक्षित रखें और जिसे आप पैसे भेज रहे हैं उसकी जानकारी दोबारा जांच लें।

Updated On
ADMIN

ADMIN

Next Story