अब हम आपको बताते हैं कि आप इस नई सुविधा का इस्तेमाल कैसे कर सकते हैं।

यूपीआई का यह नया फीचर है यूपीआई नाउ पे लेटर। साथ ही, आप शून्य खाता शेष के साथ भी अपनी मौजूदा क्रेडिट लाइन का भुगतान कर सकते हैं। फिर आपको बाद में यह रकम संबंधित बैंक को चुकानी होगी।





आपको बता दें कि पहले यूपीआई यूजर्स को केवल अपने बचत खाते, ओवरड्राफ्ट खाते, प्रीपेड वॉलेट और क्रेडिट कार्ड को यूपीआई से लिंक करने की अनुमति थी। लेकिन अब क्रेडिट लाइन लिमिट का इस्तेमाल यूपीआई पेमेंट के लिए भी किया जा सकता है।





अब हम आपको बताते हैं कि आप इस नई सुविधा का इस्तेमाल कैसे कर सकते हैं।

दरअसल, इस सेवा के लिए बैंकों को क्रेडिट लाइन के लिए ग्राहक की मंजूरी लेनी होगी और उसके बाद क्रेडिट सीमा तय की जाएगी। उसके बाद, आप उसी सीमा का उपयोग करके भुगतान कर पाएंगे, भले ही आपके खाते का शेष शून्य हो।





इस भुगतान पर खर्च किए गए पैसे की वसूली के लिए आपको कुछ समय दिया जाएगा। इसके लिए आपसे तय समय तक कोई शुल्क नहीं लिया जाएगा. आरबीआई ने पहले ही बैंकों से इस सुविधा को यूपीआई से जोड़ने को कहा था।





Updated On
ADMIN

ADMIN

Next Story