रिलायंस इंडस्ट्रीज (RIL) के शेयरों ने मंगलवार को इतिहास रच दिया। कंपनी के शेयर बीएसई पर 1.89 फीसदी की तेजी के साथ 52-सप्ताह के उच्चतम स्तर पर पहुंच गया है।रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड का बाजार पूंजीकरण मंगलवार को 20 लाख करोड़ रुपये से अधिक हो गया। यह 20 लाख करोड़ रुपये के बाजार पूंजीकरण तक पहुंचने वाली पहली भारतीय कंपनी बन गई।

रिलायंस के शेयर रिकॉर्ड ऊंचाई पर

यह उपलब्धि प्रमुख कंपनी आरआईएल के शेयरों के आज के कारोबारी सत्र में रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंचने के बाद आई है। रिलायंस शेयर की कीमत ₹2,902.95 के पिछले बंद स्तर के मुकाबले ₹2,910.40 पर खुली और 1.9 प्रतिशत बढ़कर ₹2,957.80 के सर्वकालिक उच्च स्तर पर पहुंच गई। दोपहर 12:05 बजे के आसपास, स्टॉक 1.58 प्रतिशत बढ़कर ₹2,948.70 पर कारोबार कर रहा था। पिछले दो सप्ताह में ही शेयर का बाजार मूल्य एक लाख करोड़ रुपये बढ़ गया है। स्टॉक मूल्य में इस उल्लेखनीय वृद्धि ने कंपनी के बाजार पूंजीकरण पहली बार लगभग ₹20 लाख करोड़ पहुंच गया।

मुकेश-अंबानी की अगुवाई वाली कंपनी का मार्केट कैप अगस्त 2005 में 1 लाख करोड़ रुपये तक पहुंच गया और उसके बाद तेजी से बढ़ता रहा। समूह अप्रैल 2007 में 2 लाख करोड़ रुपये और अक्टूबर 2007 में 4 लाख करोड़ रुपये तक पहुंच गया। हालांकि, आरआईएल को जुलाई 2017 में 5 लाख करोड़ रुपये तक पहुंचने में 12 साल लग गए। वहीं 2019 में आरआईएल का बाजार पूंजीकरण 10 लाख करोड़ रुपये हो गए थे। 20 लाख करोड़ रुपये के बाजार मूल्यांकन के साथ अब रिलायंस इंडस्ट्रीज देश की टॉप फर्म बन गई है। जो टीसीएस (15 लाख करोड़ रुपये), एचडीएफसी बैंक (10.5 लाख करोड़ रुपये), आईसीआईसीआई बैंक (7 लाख करोड़ रुपये), और इंफोसिस (7 लाख करोड़ रुपये) जैसी अन्य कंपनियों से बहुत आगे है।

Updated On
Sumit

Sumit

Next Story